Sanskrit Sandhi Examples

Sanskrit Sandhi Examples Thursday 21st of November 2019

Sanskrit sandhi examples,sandhi viched of sanskrit words , hindi grammar sandhi exercises, sandhi viched in sanskrit, hindi grammar sandhi exercises, sandhi examples, sandhi worksheets in hindi, hindi sandhi exercises pdf, sandhi sanskrit, vyanjan sandhi examples, gun sandhi examples. Sanskrit sandhi examples, Hindi sandhi viched examples , संस्कृत व्याकरण संधि exercises, sandhi viched in sanskrit vyakaran, sanskrit grammar sandhi exercises.

Sandhi Viched Example In Sanskrit

सम्मति = सम् + मति (व्यंजन संधि)

अधोगति = अधः + गति (विसर्ग-संधि)

सिंधूर्मि = सिधु + ऊर्मि (दीर्घ स्वर सन्धि)

उद्धरण = उत् + हरण (व्यंजन संधि)

स्वागत = सु + आगत (यण स्वर संधि)

अनुच्छेद = अनु + छेद (व्यंजन संधि)

उद्धार = उत् + हार (व्यंजन संधि)

अन्वय = अनु + अय (यण स्वर संधि)

उल्लास = उत् + लास (व्यंजन संधि

अन्वेषण = अनु + एषण (यण स्वर संधि)

उन्नयन = उत् + नयन (व्यंजन संधि)

अब्ज = अप् + ज (व्यंजन संधि)

उल्लेख = उत् + लेख (व्यंजन संधि)

अभिषेक = अभि + सेक (व्यंजन संधि)

एकैक = एक + एक (वृद्धि स्वर संधि)

अम्मय = अप् + मय (व्यंजन संधि)

किंकर = किम् + कर (व्यंजन संधि)

आच्छादन = आ + छादन (व्यंजन संधि)

किंचित = किम् + चित (व्यंजन संधि)

अत्रैव = अत्र + एव (वृद्दि संधि)

गायक = गै + अक (अयादि स्वर संधि)

इत्यादि = इति + आदि (यण स्वर संधि)

गिरीश = गिरि + ईश (दीर्घ स्वर सन्धि)

जगदीश = जगत् + ईश (व्यंजन संधि)

अहीर = अहि + ईर (दीर्घ सन्धि)

जलोर्मि = जल + ऊर्मि (गुण स्वर सन्धि)

दिग्गज = दिक् + गज (व्यंजन संधि)

परमौषध = परम + औषध (वृद्धि स्वर संधि)

दुश्शासन = दुः + शासन (विसर्ग-संधि)

परिणाम = परि + नाम (व्यंजन संधि)

Sanskrit Grammar Sandhi Exercises

दुस्साहस = दुः + साहस (विसर्ग-संधि)

पवन = पो + अन (अयादि स्वर संधि)

देवर्षि = देव + ऋषि (गुण स्वर सन्धि)

पावक = पौ + अक (अयादि स्वर संधि)

देव्यागमन = देवी + आगमन (यण स्वर संधि)

पित्राज्ञा = पितृ + आज्ञा (यण स्वर संधि)

धर्मार्थ = धर्म + अर्थ (दीर्घ स्वर सन्धि)

प्रमाण = प्र + मान (व्यंजन संधि)

नदीश = नदी + ईश (दीर्घ स्वर सन्धि)

भगवद्भक्ति = भगवत् + भक्ति (व्यंजन संधि)

नद्यर्पण = नदी + अर्पण (यण स्वर संधि)

भानूदय = भानु + उदय (दीर्घ स्वर सन्धि)

नमस्ते = नमः + ते (विसर्ग-संधि)

भूर्ध्व = भू + ऊर्ध्व (दीर्घ स्वर सन्धि)

नयन = ने + अन (अयादि स्वर संधि)

मतैक्य = मत + ऐक्य (वृद्धि स्वर संधि)

नरेंद्र = नर + इंद्र (गुण स्वर सन्धि)

मनोनुकूल = मनः + अनुकूल (विसर्ग-संधि)

नरेश = नर + ईश (गुण स्वर सन्धि)

मनोबल = मनः + बल (विसर्ग-संधि)

नारींदु = नारी + इंदु (दीर्घ स्वर सन्धि)

महर्षि = महा + ऋषि (गुण स्वर सन्धि)

नाविक = नौ + इक (अयादि स्वर संधि)

.

Sandhi Viched Exercises In Sanskrit Vyakaran

महींद्र = मही + इंद्र (दीर्घ स्वर सन्धि)

निराशा = निः + आशा (विसर्ग-संधि)

महेंद्र = महा + इंद्र (गुण स्वर सन्धि)

निराहार = निः + आहार (विसर्ग-संधि)

महैश्वर्य = महा + ऐश्वर्य (वृद्धि स्वर संधि)

निरोग = निः + रोग (विसर्ग-संधि)

महोर्मि = महा + ऊर्मि (गुण स्वर सन्धि)

महौषधि = महा + औषध (वृद्धि स्वर संधि)

निर्धन = निः + धन (विसर्ग-संधि)

मुनीश = मुनि + ईश (दीर्घ स्वर सन्धि)

निश्चल = निः + चल (विसर्ग-संधि)

महीश = मही + ईश (दीर्घ स्वर सन्धि)

निश्छल = निः + छल (विसर्ग-संधि)

महेश = महा + ईश (गुण स्वर सन्धि)

निषिद्ध = नि + सिद्ध (व्यंजन संधि)

महोत्सव = महा + उत्सव (गुण स्वर सन्धि)

निष्कलंक = निः + कलंक (विसर्ग-संधि)

महौषध = महा + औषध (वृद्धि स्वर संधि)

निष्फल = निः + फल (विसर्ग-संधि)

मुनींद्र = मुनि + इंद्र (दीर्घ स्वर सन्धि)

निस्संतान = निः + संतान (विसर्ग-संधि)

नीरस = निः + रस (विसर्ग-संधि)

षडानन = षट् + आनन (व्यंजन संधि)

संस्कृत व्याकरण संधि विच्छेद उदाहरण

रवींद्र = रवि + इंद्र (दीर्घ स्वर सन्धि)

संकल्प = सम् + कल्प (व्यंजन संधि)

वधूत्सव = वधू + उत्सव (दीर्घ स्वर सन्धि)

संतोष = सम् + तोष (व्यंजन संधि)

वधूर्जा = वधू + ऊर्जा (दीर्घ स्वर सन्धि)

संपूर्ण = सम् + पूर्ण (व्यंजन संधि)

वनौषधि = वन + ओषधि (वृद्धि स्वर संधि)

संयोग = सम् + योग (व्यंजन संधि)

वाड़्मय = वाक + मय (व्यंजन संधि)

संलग्न = सम् + लग्न (व्यंजन संधि)

विद्यालय = विद्या + आलय (दीर्घ स्वर सन्धि)

संविधान = सम् + विधान (व्यंजन संधि)

विधूदय = विधु + उदय (दीर्घ स्वर सन्धि)

सच्छास्त्र = सत् + शास्त्र (व्यंजन संधि)

विषम = वि + सम (व्यंजन संधि)

सदैव = सदा + एव (वृद्धि स्वर संधि)

वागीश = वाक + ईश (व्यंजन संधि)

सद्भावना = सत् + भावना (व्यंजन संधि)

लघूर्मि = लघु + ऊर्मि (दीर्घ स्वर सन्धि)

सम्मान = सम् + मान (व्यंजन संधि)

वधूल्लेख = वधू + उल्लेख (दीर्घ स्वर सन्धि)

स्वच्छंद = स्व + छंद (व्यंजन संधि)

विद्यार्थी = विद्या + अर्थी (दीर्घ स्वर सन्धि)

हिमालय = हिम + आलय (दीर्घ स्वर सन्धि)

Related Posts:-

1-संधि हिंदी ग्रामर ...
2-स्वर संधि.... 
3-व्यंजन संधि.... 
4-संधि विच्छेद उदाहरण (Exercise).......