Muhavare in Hindi हिंदी मुहावरे और अर्थ

Muhavare in Hindi हिंदी मुहावरे और अर्थ Tuesday 2nd of June 2020

Muhavare in Hindi मुहावरा उन वाक्यों अथवा वाक्यांशों को कहते हैं, जो अपने शब्दों का सामान्य वाच्यार्थ न प्रकट कर, कुछ विलक्षण ही अर्थ जताते हैं। जैसे- यह सुनते ही उसके पेट में चूहे कूदने लगे। मुहावरे (Muhavare) का प्रयोग उतना आवश्यक नहीं है, क्योंकि बिना मुहावरे (Muhavare) के भी उत्कृष्ट आशय प्रकट किए और ललित वाक्य रचे जा सकते हैं, पर मुहावरे का शुद्ध प्रयोग करने से भाव का सौंदर्य अवश्य बढ़ जाता है। रोजमर्रा के साथ मुहावरे (Muhavare) की चासनी देने से वाक्य की सुंदरता और शक्ति में अभिवृद्धि हो जाती है। मुहावरे (Hindi Muhavare) का उपयोग करने के पहले, उनका ठीक ठीक अर्थ जान लेना अनिवार्य है। ऐसी जानकारी के लिए प्रतिष्ठित लेखकों के ग्रंथों का अध्ययन ध्यानपूर्वक करना चाहिए। Hindi Muhavare - Hindi Kahawat Muhavare in Hindi हिंदी मुहावरे Lokoktiyan & Kahawat

मुहावरे की परिभाषा

मुहावरा शब्द मूलतः अरबी भाषा का शब्द है, जिसका शाब्दिक अर्थ होता है अभ्यास करना। मुहावरा शब्द की उत्पत्ति पर विचार करने से स्पष्ट होता है कि अरबी का "मुहावर:" शब्द उर्दू में "मुहाविरा" और हिंदी में "मुहावरा" बन कर प्रयुक्त होता है। हिंदी के कुछ विद्वान मुहावरा को वाग्धारा अथवा रोजमर्रा भी कहते हैं,किंतु प्रचलित भाषा में मुहावरा ही है। मुहावरा का शब्दार्थ- बोलचाल, बातचीत या अभ्यास है। हिंदी में यह "विलक्षण अर्थ देने वाले वाक्यांश" के रूप में लिया जाता है। 

Muhavare Ka Definition 

  • लाक्षणिक  व क्वचित  व्यंगार्थ में रूढ़ वाक्य मुहावरा होता है। 
  • मुहावरा भाषा विशेष में प्रचलित उस अभिव्यक्ति इकाई को कहते हैं जिसका प्रयोग प्रत्यक्षार्थ से अलग रूढ़ि लक्ष्यार्थ  के लिए किया जाता है। 
  • जो वाक्यांश अपने सामान्य अर्थ को न बताकर किसी विशेष अर्थ को बतलाता है और प्रायः क्रिया का काम देता है, उसे मुहावरा कहते हैं। 
  • एक ही प्रकार के असंख्य अनुभवों को पसंग के अनुसार प्रकाशित करने वाली चतुर उक्ति मुहावरा है। 
  • ऐसा वाक्यांश जो सामान्य अर्थ का न बोध करा कर किसी विलक्षण अर्थ की प्रतीति कराएं मुहावरा कहलाता है। 

मुहावरे (Muhavare) के लक्षण

उपयुक्त परिभाषा ओं के आधार पर मुहावरे के निम्नलिखित लक्षण सिद्ध होते हैं। 

  • मुहावरा एक वाक्यांश है। 
  • वाक्यांश का सामान्य अर्थ महत्व का नहीं होता है। 
  • वाक्यांश किसी विलक्षण, लाक्षणिक, विशेष या क्वचित व्यंगार्थ को व्यक्त करता है। 
  • मुहावरे पूर्ण वाक्य नहीं होते हैं। 
  • मुहावरे का प्रयोग स्वतंत्र रूप से नहीं होता है। वाक्य में प्रसंग अनुसार होता है 
  • मुहावरे की रचना में लगे शब्द नहीं बदले जाते हैं। 
  • मुहावरे का सामान्य अर्थ नहीं, विशिष्ट अर्थ लिया जाता है। 
.

मुहावरे और कहावत में अंतर

  • मुहावरा वाक्यांश है, जबकि कहावत वाक्य है। 
  •  मुहावरे का स्वतंत्र प्रयोग नहीं किया जाता, जबकि कहावत का स्वतंत्र प्रयोग होता है। 
  • मुहावरे में उद्देश्य, विधेय का पूर्व विधान नहीं होता, जबकि कहावत में उद्देश्य और विधेय का पूर्ण विधान होता है। 
  • मुहावरा फल से संबंधित नहीं होता परन्तु कहावत फल से संबंधित होती है। 
  • मुहावरा बात को कहने की रीत या पद्धति है, कहावत कथन में व्यक्त अनुभव या विचार का सारगर्भित और अस्थाई निचोंण है। 
  • मुहावरा फल से संबंधित नहीं होता, कहावत फल से संबंधित होता है। 
  • मुहावरे का अर्थ की दृष्टि से माध्यम की तलाश रहती है, कहावत में ऐसा नहीं होता है। 

मुहावरे और उनके अर्थ

अपना सा मुंह लेकर रह जाना-विफल मनोरथ रह जाना .
उंगली पकड़कर पहुंचा पकड़ना- थोड़ा सा सहारा पाकर विशेष प्राप्ति के लिए उत्साहित होना। 
अंत बिगाड़ना-परिणाम खराब करना। 
अपनी नींद सोना अपनी नींद जागना- किसी बात की चिंता ना करना। 
अंधेर खाता- प्रकृति और नियम के विरुद्ध कार्य करना। 
अन्न जल उठाना- अपनी सत्यता की परीक्षा देना। 
अंगारों पर पैर रखना- खतरनाक कार्य करना। 
अंधे के आगे रोना अपना दीदा खोना- असहाय व्यक्ति से सहायता मांगना। 

अगर मगर करना- टालमटोल करना। 
अपना उल्लू सीधा करना- स्वार्थ सिद्ध करना। 
अंधेरे में तीर चलाना- लक्ष्य विहीन प्रयास करना। 
अंगारे उगलना- क्रोध में कठोर वचन बोलना। 
अंधे के हाथ बटेर- अयोग्य के हाथ अनायास अच्छी वस्तु का लगना। 
अधजल गगरी छलकत जाय- ओछे व्यक्ति का इतरा कर चलना 
अपने पांव पर कुल्हाड़ी मारना- जानबूझकर स्वयं को संकट में डालना। 
अपने मुंह मियां मिट्ठू बनना- अपनी प्रशंसा स्वयं करना। 
अंधे की लकड़ी- एकमात्र सहारा होना 
अंगूठा दिखाना- ऐन मौके पर धोखा देना 
अंधों में काना राजा- अयोग्य व्यक्तियों के मध्य क्म योग्य भी ज्यादा योग्य बनता है। 
अक्ल पर पत्थर- बुद्धि भ्रष्ट होना 
अंगूर खट्टे होना- असफलता पर पर्दा डालना

हिंदी मुहावरे और उनके उदाहरण

अंगूठा चूमना- चापलूसी करना 
अड्डा जमाना- स्थाई रूप से रहने लगना 
अपनी खिचड़ी अलग पकाना- स्वार्थी होना 
आंख में किरकिरी होना- आंखों को चुभने वाला/ अच्छा न लगना 
आंख दिखाना- धमकाना 
आंखें पथरा जाना- आंखें थक जाना 
आंखों में धूल झोंकना- धोखा देना 
आकाश कुसुम होना- पहुंच से बाहर होना 
आंसू पीकर रह जाना- चुपचाप दु:ख सह लेना 
आंख मिलाना- सामना करना

Hindi Kahawat Exersise

ईट से ईट बजाना- बर्बाद कर देना 
ईद का चांद होना- बहुत समय बाद दिखाई देना 
उल्टी गंगा बहाना- उल्टा काम करना 
उड़ती चिड़िया पहचानना- मन की बात जानना 
उंगलियों पर नाचना- किसी की इच्छाओं का तुरंत पालन करना 
उंगली पर नचाना- वश में रखना 
ऊंट के मुंह में जीरा- अपर्याप्त वस्तु 
एक ही थैली के चट्टे बट्टे होना- सब का एक समान होना 
एक अनार सौ बीमार- आवश्यकता से अधिक माग 
एक आंख से देखना- समान भाव से देखना 
एड़ी चोटी का पसीना एक करना- कठिन परिश्रम करना 
एक और एक ग्यारह होना- संगठन में शक्ति का होना

कान पर जूं न रेंगना- बिल्कुल ध्यान ना देना 
कलेजा थाम कर रह जाना- कठिनता से धैर्य धारण करना 
कमर कसना- तत्पर होना 
कागजी घोड़े दौड़ाना- केवल लिखा पढ़ी करते रहना व्यवहार में कुछ ना होना

Hindi Muhavare With Meanings and Sentences

कान भरना- चुगली करना 
खेत रहना- संग्राम में मारा जाना 
गड़े मुर्दे उखाड़ना- पुरानी बातों पर प्रकाश डालना 
गले का हार होना- अत्यंत प्रिय होना 
गागर में सागर भरना- थोड़े में ही बहुत कहना 
गाल बजाना- बकवास करना 
गले मढ़ना- इच्छा के विरुद्ध 
गूलर का फूल होना- ना दिखाई पड़ना 
गंगा नहाना- कठिन कार्य पूरा करके छुट्टी पाना 

hindi muhavare with meanings and sentences with pictures


घोड़े बेचकर सोना- निश्चित होना

Kahawat in Hindi

घी के दिए जलाना- अत्यंत प्रसन्न होना 
घी की खिचड़ी होना- खूब मिलजुल जाना 
छक्के छुड़ाना- हिम्मत हारना 
जले पर नमक छिड़कना- दुख पर और दुख देना 
जीती मक्खी निगलना- जानबूझकर अन्याय सहना 
टेढ़ी खीर- कठिन कार्य 
तिल का ताड़ बनाना- छोटी बात को बढ़ा चढ़ाकर कहना 
दुम दबाकर भाग जाना- डर कर भागना 
दांत खट्टे करना- पराजित करना 
दो नावों पर पैर रखना- अस्पष्ट स्थिति/ एक साथ दो काम करना 
दिन रात एक करना- लगातार प्रयास करते रहना 
दांत काटी रोटी- अत्यंत घनिष्ठ मित्रता 
नाकों चने चबाना- परेशान होना 
नाक रगड़ना- खुसामद करना